Sunday, November 28, 2010

Pyar ke Side Effects

यूँ तो प्यार पर ना जाने कितनी इबारते लिखीं गयी और ताजमहल भी बनाI कभी ग़ालिब और मीर की गजलें बन गयी, तो कभी हीर- राँझा लैला- मजनू की अमर कहानियाँI बूढ़े बुजुर्ग कहा करते है की अब ना तो मोहब्बत की वो तासीर है ना कोई राँझा है अब और ना कोई हीर हैI शाहरुख़ खान कहता है की कुछ- कुछ होता है पर दोस्त बहुत कुछ होता हैI सृष्टी की शुरुआत से अभी तक प्यार नहीं बदला लेकिन उसके ढंग बदल गए, लोग बदल गएI जज्बे में कमी नहीं है पर शायद जज्बात ही लोगों ने मार लिये हैंI 80 % वैसे लोग होते हैं जो मन ही मन सिर्फ सोंचा करते है, कभी इज़हार नहीं कर पाते कुछ समाज के डर से तो कुछ अपने और सामने बाले में भेद-भाव के शर्म सेI 5 % वैसे होते हैं जिनकी नईया राम जी पार लगाते हैं मतलब की वो खुशनसीब जिन्हें प्यार मिलता हैI और 15 % वो जो सब कुछ पा कर भी, हिम्मतजदा होने पर भी कुछ नहीं कर पातेI
ये 15% बाले लोगों की दौर में जो भी लोग आते हैं बड़ी मुश्किलों में होते हैं, जान ना उगलते बनती है ना निगलतेI कहते हैं प्यार में लोग पागल हो जाते हैं पर उनका क्या जो पहले से पागल ही होंI इन्ही राहों की एक मुसाफिर मैं भी हूँI कुछ ऐसा लगता है जैसे आप अपने आप को नहीं किसी दुसरे को जी रहें होंI मेरे दोस्त कहते हैं ये प्यार का साइड एफ्फेक्ट हैI मेरा ऑफिसर जी कहता है तुम्हारे भी हजार पंगे हैं पर कैसे बताऊ उसे की 500 पंगे तो तुम्हारे आने के बाद आयें हैंI स्थिति ऐसी होती है की रास्ते समझ ही नहीं आते और अगर किसी turning point पे खड़े हो तो समझ जाओ की आप चीन के बदले जापान ही पहुंचोगेI बताह जैसे इधर-उधर अपने में ही मुस्कुराते फिरेंगे आपI ऐनक भी देखने का ढंग बदल जायेगा और लगेगा आप कुछ ज्यादा ही खूबसूरत हैंI उसपे सोने पे सुहागा तब होता है जब कोई दोस्त कह दे की बड़ी अच्छी दिख रही हो आजकलI प्यार के साइड एफ्फेक्ट ऐसे घातक और जानलेबा होते हैं की खाने में मिर्ची तक नजर नहीं आएगीI शर्ट के बटन तक का होश गायब हो जाता हैI रही बात सपनों की तो उसपे तो वो- वो कमाल होतें हैं की बस धमाल हो जाता हैI
सोंचने बाली बात है जिस इंसान की बजह से आपके इतने नुकसान हो रहे हो आपकी इतनी तबाही हो रही हो फिर भी आप उसी की खैर मनाते हैंI अपना होश रहे ना रहे पता करना होता है की वो ठीक है या नहींI आजकल लोगों के पास सभी सुबिधायें घर बैठे उपलब्ध हैं पर उनका क्या जो जशने बहारा टाइप होंI कहते हैं लोग घंटो बातें करते हैं पर मैं जब भी ऑफिसर जी से बातें करती हूँ समझ नहीं आता की क्या बात करू लगता है कहीं कुछ गलत ना बोल दूँI घंटों की कौन कहे मिनटों के भी लाले पड़ जाते हैंI लोग कहते हैं नींद नहीं आती लोगों को पर आजकल दिन रात सोती हूँI लोग कहते हैं कुछ अच्छा नहीं लगता प्यार के बिना पर मुझे सारी फिजायें बहुत ही खूबसूरत लगतीं हैंI
लोग कहते हैं ऐसा तभी होता है जब आपको कोई बहुत अच्छा लगने लगता हैI जैसे किसी को ऑंखें अच्छी लगती हैं, तो किसी को आवाज़ किसी को होठ तो किसी को सामने बाली की स्मार्टनेसI मुझे तो ये भी नहीं पता की मुझे ऑफिसर जी का क्या अच्छा लगता हैI कभी गौर नहीं किया, कुछ खास बात तो नहीं उसमे, कहीं का शहजादा थोड़े ही है पर बिना किसी खासियत के बस वो अच्छा लगता हैI मेरा दोस्त साईं बाबा कहता है की जो दिमाग में हो वही सपने में भी आता हैI पर कल रात जैसा सपना देखा वैसा तो कभी सपने में भी नहीं सोंचा था मैंनेI
मैंने देखा कालिदास रंगालय का ड्रामा स्टेज दिख रहा है चारो तरफ अँधेरा ही अँधेरा है एक गोल सा प्रकाश स्टेज के दाहिनी तरफ है जहाँ कोई लड़की पियानो की धुन बजा रही हैI उसके ही बगल में सितारे टिमटिमा रहे हैं, सहसा मैं वहाँ चाँद ढूँढने लगती हूँ की तभी स्टेज पे आने बाली सीढियाँ और कोरिडोर में लाइट जलीI देखती हूँ जल्वेरा के बहुत सारे फूल बिखरे हैं सीढियों पर, कि तभी किसी ने हॉल में एंट्री की है और स्टेज पे जैसे दूज का चाँद दिखाI देख के मैं चौंक पड़ी की स्टेज पे मैं ही पियानो बजा रही हूँ और जिसने भी हॉल में अभी एंट्री ली है उसे पहचानने की कोशिश कर रही हूँI कहीं एलेन तो नहीं "ना वो तो नहीं है" तो फिर ये कौन आ रहा हैI
मुझे डर लग रहा है की सारे जलबेरा वो अजनबी कुचल ना दे पर ये क्या वो एक- एक कर सीढियाँ उतरता है और जलबेरा के फूल उठाता जाता है और जैसे जैसे वो करीब आ रहा है चाँद पूरा हो रहा हैI जैसे ही वो स्टेज पे आया कि तभी मैंने देखा वो तो ऑफिसर जी है कि अचानक रेनबो दीखता हैI और अपने आप ही गाना बजता है :
Hold me , let me feel you
In my arms again
Softly you whisper my life
my best friend,
मुझे समझ नहीं आ रहा है कि इस वक़्त को मैं क्या लिखूँ, स्तब्ध हूँ मैं, बस उसे देखे ही जा रही हूँI जैसे कि आज आखिरी दिन है और मैं शायद फिर कभी देख ना पाऊ और गाना बज रहा है
A moment is all i m searching for
Just a moment in love with you
A moment so special so beautiful
In a moment my wish comes true
ऑफिसर जी ने सारे जलबेरा मुझे दे दिये और हम दोनों साथ में रेनबो पे जा रहे हैं कि तभी बज रहा है
Save me from the future
take me back in time
the words they have no meaning
without you in my life, मैं उसे डांट रही हूँ कह रही हूँ कहा थे, इतनी देर कहाँ लगा दी बिलकुल लेटलतीफ हो तुम, जमके दुनियाभर कि गलियां दे रही हूँ मैं उसे पर फिर भी वो कुछ नहीं बोल रहा है बस मुस्कुराता जा रहा है और गाना बज रहा है
time has no answer
for word left unsaid
for words have no meaning
there's no road ahead , कि तभी रेनबो का रास्ता ख़त्म हो जाता है और एक टेबल दीखता हैI उसपे Dinner सजा है, वहाँ गोलगप्पे रखे हैं, आइसक्रीम है butterscotch और chocolate बाली, मेरी बनाई जली रोटियां है, और तेहरी हैI चारो तरफ चांदनी बिखरी है और तारे टिमटिमा रहे हैं चाँद भी पूनम का लग रहा है और गाना बज रहा है
I see the magic all around
shining down on me
with you my life would be so right
if only it could be
May be this world is a mystery to me
But if you here for eternity,
और हम दोनों कत्थक कर रहे हैंI समझ में नहीं आ रहा है कि हो क्या रहा है कि तभी मेरे सारे दोस्त स्टेज पे आके धप्पा मारते हैं जैसे हम लोग बचपन में छुआ- छुई नहीं खेलते थे बिलकुल वैसे हीI Monkey है, साईं बाबा है ,मोना डार्लिंग है, बिल्लो रानी है, परी है, मच्छर हैI ये सारी करामत इन्ही लोगों की हैI सहसा आँखों पे यकिन नहीं आ रहा है जब देखती हूँ की रंगालय में audiance की जगह किंग खान और गौरी, Rojer Fedrer , महबूबा मुफ्ती, Operah winfrey ,रेखा,सुधा चंद्रन, नेल्सन मंडेला, किशोर कुमार, मधुबाला, Jorge mendal , Jigme khesar namgayal bangchuk बैठे हैंI ये भी सोंच रही हूँ की कहीं मैं मर तो नहीं गयी हूँ फिर लगता है की यार जिन्दे लोग भी तो दिखाई दे रहे हैं सफी सर, ऋतुराज सर, अयान निशी प्रतिभा सब तो दिख रहे हैंI ऑफिसर जी और हम लोग बड़े खुश हैI वो हरे कांच की रेशमी चूड़ियाँ मुझे देने को लाया है की तभी उसकी और मेरी माँ सामने से डंडा लेकर आ रहे हैI मेरी माँ उसकी दी हुई चूड़ियाँ छीन रही है और ऑफिसर जी की माँ मेरे दोस्तों को डंडे मार रही हैI यार audiance में से भी जो कोई बचाने आ रहा है उसे भी मार के गिरा रही है ये दोनों की तभी एक डंडा ऑफिसर जी को लग गयाI एक हाथ से ऑफिसर जी को बचाने की कोशिश कर रही हूँ, दुसरे हाथ में चूड़ियाँ पकड़ी हुई हैं मैंने I मेरी माँ मुझसे मेरी चूड़ियाँ छीन रही हैं और मैं कह रही हूँ नहीं दूंगी चाहे कुछ भी बोलोI अचानक से बारिश होने लगी तभी आंख खुल गयी "माँ मुझे पानी से जगाने की कोशिश कर रही थी और मेरी bedshit कब से धोने के लिये मांग रही थी"I पता चला १० मिनट से चादर fighting चल रही थी तो माँ ने उकता के पानी से जगाया और गालियों की भरमार कर दी सुबह- सुबह, वैसे भी माँ जब सुबह सुबह गालियाँ देती है तो दिन बहुत अच्छा जाता हैI उस वक़्त इश्वर से प्राथना में ये नहीं माँगा की सचमुच में ऑफिसर जी आये या ये सपना सच हो, बस ये दुआ की कि मेरे दोस्तों का और ऑफिसर जी का मेरी बजह से कुछ बुरा ना हो भगवानI किसी शायर ने क्या खूब लिखा है "किसको सुनाएँ हाले दिल जोरे अदा, आवारगी में हमने ज़माने कि सैर की" I

video

8 comments:

babanpandey said...

good//
keep it up ....//
visit my blog also...
http://babanpandey.blogspot.com

monali said...

Hahahaha....
Behad mazedaar post ar is mazedaar sapne ne to sach me char chaand laga diye..bada hi filmy sapna tha.. dekhiye ye nasha abhi utar jaye to theek h kam se kam sapno ki khubsoorti to bani rahegi..varna... bbade dhokhe hain is raah me :)

ashish said...

अच्छा लिखती है आप, बहुत मज़ेदार . बुरा ना माने तो कुछ वर्तनी सम्बन्धी त्रुटिया दिखी आपके प्रोफाइल सामग्री में. हो सके तो ठीक कर ले . वैसे मै दिमाग लेकर गया था आपकी पोस्ट फिर भी अच्छी लगी .

Chand4ever said...

@ Monali jee: Thanxs for your appreciation & suggestion 2.
@ Ashish jee: Actually Ashish jee i m not a writer so pls u rectify my profile language deficient where it has wrong, i will surely rectify.

ashish said...

कर्मण्ये बधिकरास्ते माँ फलेसु कदन्चनम should be
कर्मण्ये वाधिकरेस्तु माँ फलेषु कदाचनम.

Chand4ever said...
This comment has been removed by the author.
babanpandey said...

सृष्टी की शुरुआत से अभी तक प्यार नहीं बदला लेकिन उसके ढंग बदल गए, लोग बदल गएI जज्बे में कमी नहीं है पर शायद जज्बात ही लोगों ने मार लिये हैंI //
niche waale blog par bhi jaaye
http://babanpandey.blogspot.com

Harshkant tripathi"Pawan" said...

पोस्ट अच्छी है. सेटिंग्स में जाकर वर्ड वेरिफिकेसन को हटा दीजिये कमेन्ट करने में सहूलियत होगी.